लंबी उम्र तक रहना है जवान और खूबसूरत, तो आप भी जानें त्वचा की ABCD

Spread the love
  • 29
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    29
    Shares
161 Views

लंबी उम्र तक रहना है जवान और खूबसूरत, तो आप भी जानें त्वचा की ABCD

हर कोई खूबसूरत और जवान दिखना चाहता है मगर कई बार मेकअप और रोजमर्रा की छोटी-मोटी गलतियों के कारण आपकी त्वचा जल्द ही बूढ़ी और खराब दिखने लगती है। इससे आपकी खूबसूरती भी प्रभावित होती है और आप ज्यादा उम्रदराज लगती हैं। अगर आप चाहती हैं कि आपकी त्वचा लंबे समय तक जवान रहे और आपकी खूबसूरती भी बरकरार रहे, तो आपको भी पता होनी चाहिए स्किन केयर की ए, बी, सी, डी। जी हां, त्वचा की देखभाल के लिए कई ऐसे तत्व हैं, जो जरूरी हैं। आइये आपको बताते हैं क्या है त्वचा के देखभाल की ए, बी, सी, डी। digital …

ए- एंटीऑक्सिडेंट्स

एंटीऑक्सिडेंट्स त्वचा की कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाते हैं। ये नए टिशूज के निर्माण के लिए और पुराने टिशूज को नष्ट करने के लिए तथा त्वचा को रोगमुक्त रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट्स जरूरी हैं। साथ ही ये सूरज की नुकसानदेह अल्ट्रावायलेट किरणों से त्वचा की सुरक्षा करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट से चेहरे पर चमक आती है। एंटीऑक्सीडेंट फल-हरी पत्तेदार सब्जियों में पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं।

बी- बीटा कैरोटीन

कई शोधों से साबित हो चुका है कि बीटा कैरोटीन त्वचा के लिए वरदान है। यह त्वचा को सूर्य की किरणों से होने वाले नुकसान से सुरक्षित रखता है। बीटा कैरोटिन प्री मैच्योर एजिंग से बचाता है यानी बीटा कैरोटीन की पर्याप्त मात्रा होने पर आपकी त्वचा लंबे समय तक जवान रहती है और त्वचा पर बुढ़ापे के लक्षण नहीं असर करते हैं। गाजर में यह पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसके साथ ही गाजर में मौजूद विटमिन ए त्वचा को स्मूद और स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

सी- कोलेजन

कोलेजन त्वचा पर मौजूद प्रोटीन है, जो इसे बांधे रखती है। 80 प्रतिशत त्वचा इस प्रोटीन से बनी होती है। यह त्वचा में कसाव लाता है और मजबूती प्रदान करता है। कोलेजन स्वभाविक रुप से समय के साथ टूट जाते हैं पर कुछ तत्व रेटीनॉल और पेप्टाइड्स के रुप में नए कोलेजन बनाते हैं। शरीर में कोलेजन की मात्रा को बढ़ाने के लिए हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

डी- ड्राईनेस

त्वचा के रुखेपन को दूर करने के लिए पानी की कमी ना होने दें। दिन में आठ-दस गिलास पानी और तरल पदार्थों का सेवन करें। दिन में दो बार बॉडी लोशन क्रीम ले मॉयस्चरराइज करें। इससे त्वचा की नमी बरकरार रहेगी और वह खिली-खिली नजर आएंगी। इसके अलावा चेहरा साफ करने के बाद 1/2 टी स्पून ग्लिसरीन में २-३ बूंद गुलाबजल  मिलाकर चेहरे पर लगाएं। रात को सोने से पहले ऐसा करें।

ई- इसेंशियल ऑयल

यह त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर करने में सहायक होते हैं मसलन एग्जीमा, रैशेज, जलन और लाली। ऐसेंशियल ऑयल त्वचा को ठंडक, ताजगी और चमक भी प्रदान करते हैं। त्वचा की किस्म और जरूरत के मुताबिक एसेंशियल ऑयल इस्तेमाल करके आप गजब का निखार पा सकती हैं। मसलन रूखी त्वचा के लिए -सैंडलवुड , जैस्मिन और लैवेंडर, तैलीय व संवेदनशील त्वचा के लिए-टी ट्री, लैवेंडर और रोजमेरी।

एफ़- फेशियल

धूल प्रदूषण और धूप का सामना करते-करते त्वचा कुम्हला जाती है। इसलिए आराम देने के लिए नियमित रुप से फेशियल बहुत जरूरी है। फेशियल का मतलब सिर्फ मसाज से ही नहीं होता है। इसमें त्वचा की डीप क्लींजिंग की जाती है।web ताकि बंद छिद्र खुल जाएं और त्वचा खुल कर सांस ले सके। इससे त्वचा को पोषण मिलता है और कुदरती चमक आती है।

Source : onlymyhealth

  • 29
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com