दो दोस्तों ने मिलकर २० हजार रूपये से 88 हजार करोड़ की कपंनी बनाई |

Spread the love
  • 16
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    16
    Shares
218 Views

दो दोस्तों ने मिलकर २० हजार रूपये से 88 हजार करोड़ की कपंनी बनाई |

अक्सर आप ने सुना होगा कि दोस्त के चक्कर में पढ़ कर लोग सिर्फ और सिर्फ पैसों की बर्बादी और अपना समय गंवाते हैं। लेकिन हम आज आप को ऐसी कहानी बताने जा रहे हैं, जिसे सुनकर आप ये कह सकते हैं कि हर एक दोस्त कमीना नहीं होता है। कुछ दोस्त ऐसे भी होते हैं जो किसी के भविष्य को सुनहरा बना सकते हैं। आप को यकीन नहीं होगा कि दो दोस्त ने मिलकर एक ऐसा कारनामा कर दिखाया है जो काबिले-तारीफ है।

दो दोस्तों की सफलता की कहानी

दरअसल, बचपन की ये दोस्ती ऐसी है जिसने एकदूसरे के साथ मिलकर 88 हजार करोड़ का साम्राज्य खड़ा कर दिया। इन दोस्तों के साथ जो एक कॉमन बात थी ये कि उनके नाम और इनकी सोच भी एक जैसी थी जिसकी वजह से कभी इनके बीच कोई मन-मुटाव नहीं हुआ। न ही कभी ये एकदूसरे से झगड़ते थे। इनके नाम हैं राधेश्याम अग्रवाल और राधेश्याम गोयनका। ये दोनो दोस्त स्कूल खत्म करने के बाद सारा समय कॉस्मेटिक के फार्मूले सीखने में बिताते थे। इसके साथ ही ये दोनों दोस्त सस्ते गोंद और कार्डबोर्ड से गेम बनाते और उसे कोलकाता के बाजारों में बेंचा करते थे।

20 हजार में शुरू किया पहला काम

यही सिलसिला करीब तीन सालों तक चलता रहा। इनके लगन और मेहनत को देखकर गोयनका के पिता ने इनको 20 हजार  रुपए दिए जिसके बाद गोयनका ने तय किया कि इस पैसे से किए गए बिजनेस में दोनों की साझेदारी होगी। बस इसी सोच के साथ ही दोनों ने एक केमको केमिकल्स नाम की कंपनी की शुरूआत की लेकिन उनका ये काम चल नहीं सका। वहीं दूसरी तरफ दोनों की शादी भी हो गई, जिससे उनकी जिम्मेदारी और भी बढ़ गई। जिसके चलते उन्होंने बिजनेस के नए अवसर तलाशने लगे।

5 साल तक बिरला ग्रुप में की नौकरी

तभी उनकी नौकरी बिरला ग्रुप में लग गई। नौकरी लगने के बाद दोनों ने करीब पांचसाल तक नौकरी की सके बाद नौकरी छोड़ने का फैसला किया और नौकरी को अलविदा कह दिया। इन पांच सालों के दौरान दोनों ने बिजनेस के काफी गुर सीख गए थे। नौकरी छोड़ने के बाद भारत के एक बड़े तबके को ध्यान में रखते हुए एक कंपनी की शुरूआत की। इस कंपनी में इन्होंने इमामी नाम से एक वैनिशिंग क्रीम को लांच किया।

खुद की कंपनी इमामी को लांच किया

इनका बिजनेस प्लान थो वो कुछ हचकर था। पहले जो टेल्कम पाउडर आते थे वो टिन के डिब्बों में आते थे जो देखने में ज्यादा आकर्षक नहीं लगते थे। इसलिए इन्होंने बाजार मं प्लास्टिक के डिब्बों को उतारा कजो देखने में आकर्षक और बेहद पॉश लगते थे।

88 हजार करोड़ की बन गई कंपनी

इसी के साथ दोनों दोस्तों ने ऐसी उड़ान भऱी की कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज के समय में इनकी कंपनी 88 हजार करोड़ की कपंनी बन गई है। आप को जानकर हैरानी होगी कि इनकी कंपनी ने पॉंड्स को भी पीछे छोड़ दिया है। आज के समय में इनकी तमाम कंपनियां हैं जो कॉस्मेटिक के क्षेत्र में काम कर रही हैं।

  • 16
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com