चश्मे बनाने वाली नंबर 1 कंपनी Luxottica ही दुनिया के 80 % चश्मे बनाती है

Spread the love
  • 32
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    32
    Shares
132 Views

चश्मे बनाने वाली नंबर 1 कंपनी Luxottica ही दुनिया के 80 % चश्मे बनाती है

लक्ज़ोटिका का साम्राज्य – LUXOTTICA IN HINDI :

चश्मा बनाने वाले दुनिया भर के किसी भी बड़े ब्रांड का नाम ले लीजिये, इस बात की गारंटी है कि उसके पीछे Luxottica का ही नाम होगा. शायद ही कोई दूसरी कम्पनी दुनिया में होगी जिसका अपने क्षेत्र में ऐसा एकाधिकार चलता हो. Luxottica के बारे में कुछ आश्चर्यजनक फैक्ट्स जानिए.

– सबसे पहले तो ये जान लीजिये कि चश्मा बनाने वाले ये सभी ब्रांड, मैन्युफैक्चरर्स और आउटलेट Luxottica के ही हैं. अब देखिये लम्बी लिस्ट :

  • Rayban
  • Oakley
  • Burberry
  • Ralph Lauren
  • ChanelPrada
  • Dolce & Gabbana
  • Giorgio Armani
  • Bulgari
  • Versace
  • Tiffany
  • Vogue
  • Oliver Peoples
  • Persol
  • DKNY
  • Coach
  • LensCrafters
  • Sunglasses Hut
  • Pearle Vision
  • Sears Optical
  • Target Optical
  • Glasses.com
  • Eyemed vision care plan
  • Miu Miu

– उपर्युक्त ब्रांडस में कुछ लक्ज़ोटिका के खुद के थे, बाकियों को एक से एक करके खरीद लिया या उन्हें बेचने पर मजबूर कर दिया गया. Luxottica की नजर दुनिया भर के बाजार पर रहती है, जहाँ भी कोई नया उभरता हुआ ब्रांड नजर आता है, वो Luxottica के नजर में चढ जाता है.

– 80 वर्ष पुरानी इटैलियन कंपनी Luxottica के फाउंडर Leonardo Del Vecchio हैं. Luxottica का दावा है कि दिन-रात में  किसी भी समय दुनिया के 500 करोड़ से अधिक लोग उनके बनाये हुए चश्में ही पहने हुए होते हैं. Google कंपनी के प्रोडक्ट Google glasses भी Luxottica के ही बनाये हुए थे.

चश्में की ऊँची कीमत का कारण – WHY GLASSES ARE SO EXPENSIVE IN HINDI :

सबसे बड़ी और खास बात, आप सोचते होंगे कि अच्छे ब्रांड के चश्में इतने महंगे क्यों होते हैं. चश्में के ग्लास, फ्रेम, प्लास्टिक आदि की कीमत ज्यादा से ज्यादा कुछ सौ रूपये होगी, पर इनके दाम की शुरुआत हजारों से ही होती है.

तो कारण ये है भाई, Luxottica की मर्जी ! पूरे बाज़ार पर उनका अधिपत्य है. आप कहाँ जाओगे, हर दूसरा ब्रांड तो उन्ही का है. आप जिस भी अच्छे ब्रांड का चश्मा लोगे, पैसा Luxottica की जेब में ही जायेगा. इसीलियें वो अपनी इच्छानुसार दाम रखते हैं और तगड़ा मुनाफ़ा कमाते हैं.

Source : shabdbeej

  • 32
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com