तनाव और डिप्रेशन से बचने के 7 उपाय

Spread the love

तनाव और डिप्रेशन से बचने के 7 उपाय

इन दिनों कामकाज से जुड़े तनाव से सामना होना बहुत आम है. इसे ठीक से संभालना जरुरी है. खानपान और relax होने के लिए समय निकल कर ऐसा किया जा सकता है. 

दिमाग और शरीर का एकदूसरे से सीधा संबंध है. अगर दिमाग में तनाव है तो व्यक्ति स्वस्थ रह ही नहीं सकता है. तनाव इस दौर की सबसे बड़ी चुनौती है जो स्वास्थ पर हमला कर रही है. ज्यादातर बीमारिया तनाव से ही उपज रही है. अपने रोजमर्रा के तनाव से पार जपना चुनौतीपूर्ण है लेकिन आगे बढ़ने के लिए उसके तरीके तलाशना ही होते है. तनाव अगर शरीर में लंबे समय के लिए टिक जाए तो वह गंभीर घाव करता है. अगर आप तनाव से मुक्ति के उपाय तलाश लेते है तो समझ लीजिये की आपने अपने जीवन को बेहतर बनाने की राह खोज ली है. जब तनाव में हो तो इन उपयो की मदद ले सकते है. 

1) खानपान में बदलाव करे

जब भी तनावपूर्ण स्थितियों से सामना हो तो coffee, alcohol और unhealthy खाने के जरिये रहत तलाशने के बारे में बिलकुल न सोचे। इस समय खानपान में एहतियात बरतने की जरुरत है. इस बात का विशेष ध्यान रखे की जब भी आप खुद को ज्यादा तनाव में पा रहे हो तो ऐसा भोजन ले जो आपको ज्यादा ऊर्जा दे. ऐसे समय dietitian की मदद से अपना diet chart फिर से plan करने की जरुरत है. याद रहे की जो भी आप खा रहे है उसका आपकी दिनचर्या जपर बड़ा प्रभाव होता है.

२) तनाव में अपने वातावरण को बदले

दिन में कई मौके आते है जबकि नकारात्मक ढंग से सोचने या नकारात्मक प्रतिक्रियाओ में आपकी ज्यादातर ऊर्जा खर्च होती है. अपनी इस ऊर्जा को बचाकर काम पर focus करे. ऐसे लोगो से दूर रहे जो आपको इस तरह से सोचने के लिए उकसाते है और उन लोगो की कंपनी join करे जो सकारात्मक ढंग से सोचते है. तनाव ज्यादा हो तो न कहना सीखना भी बहुत जरुरी है ताकि आप काम के अनावश्यक बोझ और तनाव से खुद को बचा सके. 

3) रोजाना ध्यान और योग करे

अगर तनाव से मुक्ति चाहते है तो अपने दिनचर्या में योग और ध्यान को शामिल करे. अपनी श्वास को गहरा करने का अभ्यास भी आपको तनाव से जूझने में मदद करेगा. अगर आप अपने शरीर को स्ट्रेच करते है तो उसका असर आपकी ऊर्जा पर सीधा होगा और आप चीजो का आसानी सी मुकाबला कर पाएंगे।  योग के जरिए आप बेहतर स्वास्थ और शांति पा सकते है।  यह बेहतर स्वास्थ भी देगी। 

4) समाज और समुदाय से जुड़े

सामाजिक कार्यो में स्वैच्छिक रूप से भागीदारी करे और अपने परिजनों दी साथ जुड़े। इस तरह आप अपने इर्द – गिर्द तक बड़ा support group पाएंगे और खुद को चिंताओं से मुक्त महसूस कर सकेंगे।  जब आपके साथ कुछ लोग जुड़ते है तो वे आपको तनाव से बाहर निकलने में मदद भी कर पते है, अन्यथा आप खुद को अकेला पाते है।  इस बात को याद रखे की अकेलापन या असहाय होने की स्थिति तनाव को बढाती है। 

5) रोज के कामो को कम ही रखे

अक्सर लोग अपने कामो की सुची बनाते है और उसमें बहुत सारे काम शामिल करके वे अपने लिए अनावश्यक तनाव पैदा कर लेते है। ऐसा करने से बजाय आपको अपने लिए एक दिन में दो या तीन काम करने का ही लक्ष रखना चाहिए ताकि गैरजरूरी तनाव पेड न हो। 

6) Weekend में रहे Disconnected

अपने निजी और कामकाजी जीवन के बिच संतुलन साधकर भी आप अपने जीवन में आ रहे तनाव को काम कर सकते है।  weekend पर या छुट्टी के दिन तय कर ले की आप एक निश्चित समय के लिए आपके phone को बंद रखेंगए।  कुछ समय के लिए phone को silent mode पर भी रख सकते है और दिन के एक खास समय में phone check करके देख सकते है।  जरुरी होने पर आप call back कर सकते है। 

7) Perfection के बारे में न सोचे

यह सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन अपनी स्थितियों का आकलन करके काम करना बेहतर है।  काम संसाधनों के साथ अगर आप perfection पाना चाहते है तो निराशा ही हाथ लगेगी और आप खुद का तनाव भी बढ़ लेंगे।  जितना भी आपसे संभव हो उतना बढ़िया करने की कोशिश करे और खुश रहना सीखे।  खुद पर अतिरिक्त वजन डालकर तनाव पैदा करने से दबे।  स्थितियों के अनुरूप काम करेंगे तो रहर महसूस करेंगे। 

Ravi Bhosale

मेरा नाम रवि भोसले है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, Startup,Technology, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Subscribe करें।

Signup for our newsletter and get notified when we publish new articles for free!