समय का सदुपयोग कैसे करें ?

Spread the love
  • 34
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    34
    Shares
251 Views

समय का सदुपयोग कैसे करें ?

काल करै सो आज कर, आज करै सो अब।
पल में परलै होयेगी, बहुरी करेगा कब।।

हम अपनी गलती को दुसरे पर मढ़ते – मढ़ते आज के काम को कल पर मढना सीख जाते हैं. जबकि हमें किसी भी काम को कल पर नही टालना चाहिए क्योंकि आज का कल पर और कल का काम परसों पर टालने से काम अधिक हो जायेगा. यदि आप आज का काम आज नहीं कर सकते हो तो कल भी नहीं कर पाओगे क्यूंकि कल और भी काम है. जिस प्रकार ताज़ा खाना देखकर आप बासी खाना नहीं खाना चाहते हो ठीक वैसा ही बसी काम के साथ भी होता है. समय गतिमान है इसे आप आभूषण बनाकर नहीं रख सकते हो. इस पर किसी का अधिकार नहीं है. लेकिन समय को को भी सदुपयोग कर आभूषण की तरह रखा जा सकता है अन्यथा यह नष्ट हो जाता है. समय का उपयोग धन के उपयोग से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है क्यूंकि धन भी समय पर निर्भर करता है.

समय सफलता की कुंजी है. जीवन में सफल होना चाहते है तो समय के साथ कदम से कदम मिला कर चलना होगा. समय का चक्र बहुत ही तीव्र गति से चल रहा है. हम आप भले ही सो रहे हो लेकिन समय निरंतर एक सामान रफ़्तार के साथ चल रहा है. कई जगह आपने लिखा भी देखा होगा समय, मौत और ग्राहक कभी इंतज़ार नहीं करता. अक्सर किसी न किसी से सुनने को मिलता है कि क्या करें समय ही नही मिलता ! जबकि वास्तविकता यह नहीं है. इस दुनिया में सभी पास यही 24 घंटे हैं. समय कभी नहीं मिलता है समय निकलना पड़ता है.

एक दिन रात मिलकर 24 घंटा होता है. यानि 24*60*60 = 86,400 Seconds. ईश्वर प्रतिदिन सभी प्राणी के account में 86,400 Seconds Credit करते हैं. फिर भी मनुष्य इसी बात का राग गाता रहता है समय नहीं है. वजह जान कर आप हैरान हो जायेंगे आप “समय को बिना सोचे समझे खर्च कर देना” समय को यदि सोच समझ कर खर्च किया जाये तो हमारे पास सभी काम के लिए पर्याप्त समय है. किसी का विकास रुका है मतलब वो समय के खेल रहा है. विकास की राह में समय की बर्बादी ही सबसे बड़ा शत्रु है. बीता हुआ समय कभी वापिस नहीं आता है. इसलिए समय रहते समय के साथ समय से चलने की आदत डाल लें

चाणक्य के अनुसार- जो व्यक्ति जीवन में समय का ध्यान नही रखता, उसके हाँथ असफलता और पछतावा ही लगता है.

गैलेलियो दवा बेचने का काम करते थे। उसी में से थोङा-थोङा समय निकाल कर विज्ञान के अनेक आविष्कार कर दिये.

बुरी खबर है कि समय उड़ रहा है और अच्छी खबर यह है कि तुम इसके Pilot हो.

अपने Minute का ध्यान रखो घंटा अपना ध्यान खुद रख लेगा.

तुम्हें देर हो सकती है लेकिन समय को नहीं.

दुनिया में जितनी भी चीज़ें हैं सभी में समय समाया हुआ है.

समय से महंगी कोई दूसरी चीज़ इस Universe में नहीं है.

 ईश्वरचन्द्र विद्यासागर समय के इतने पाबंद थे कि जब वे College जाते तो रास्ते के दुकानदार उन्हें देखकर अपनी घङियाँ ठीक करते थे.

जो मनुष्य वक्त का सदुपयोग करता है, एक क्षण भी बरबाद नही करता, वह बड़ा सौभाग्यवान होता है.

फ्रैंकलिन ने कहा है – समय बरबाद मत करो, क्योंकि समय से ही जीवन बना है.

जीवन के महल का Building Material समय की सुई है. प्रकृति ने किसी को भी अमीर गरीब नही बनाया उसने अपनी बहुमुल्य संपदा यानि समय सभी को बराबर बांटे हैं. समय पर कार्य न करने से श्रम व्यर्थ चला जाता है. इसलिए समय रहते काम Complete करने की आदत डाल लें. जिस तरह समय रहते तबे पर रोटी नहीं पलता गया तो रोटी जल जाता है और जले हुए रोटी का जगह Dust bean होता है. ठीक उसी प्रकार समय रहते अपने आप को बदल लें नहीं तो जली रोटी वाला हाल हो जायेगा. जीवन का प्रत्येक क्षण एक उज्जवल भविष्य की संभावना लेकर आती है क्या पता जिस क्षण को हम व्यर्थ समझ कर बरबाद कर रहे हैं वही पल हमारे लिए सौभाग्य की सफलता का क्षण हो !

  • 34
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com